Balaram Lila-Kirtan

देसी दाऊ दयाल लीला-कीर्तन
Spontaneous I Humorous I Balaram Lila-Kirtan
रचना: निताइमणि दास

जय संकर्षण जय बलरामा I
दाऊ बलरामा, दाऊ बलरामा II

धेनुकासुर को पेड़ पे लटका दिया I
दुम हिला रहा था वो दाऊजी के सामने II

रुक्मिणी के भाई की खोपड़िया खोल दी I
दांत दिखा रहा था वो दाऊजी के सामने II

हस्तिनापुर को हल से हिला दिया I
चौड़े हो रहे थे कौरव दाऊजी के सामने II

द्विविड गोरिल्ला की बैंड बजा दी I
ज्यादा फुदक रहा था वो दाऊजी के सामने II

रोमाहर्शण सुत को तिनके से उड़ा दिया I
खड़ा नही हुआ वो दाऊजी के सामने II

भागवत पढ़के भी भगवन को न पहचाना I
खड़ा नही हुआ अपने बापु जी के सामने II

कालिंदी को अपने हल से भेद दिया I
इनकार किया जब दाऊजी के सामने II

Advertisements

Published by

Nitaimani das

Preacher of Nitainam Dhyan, Spiritual Author, and disciple of B.S. Nitaipreshthji

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s